Homeदेश'सामना' के ​जरिए शिवसेना का शिंदे गुट पर हमला- अब दिल्ली के...

‘सामना’ के ​जरिए शिवसेना का शिंदे गुट पर हमला- अब दिल्ली के सामने झुकने वालों के हाथों में चला गया महाराष्ट्र

मुंबई: शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के भविष्य है व शिंदे गुट पर हमला किया। चेहरे में लिखा गया है, ‘महाराष्ट्र अब दिल्ली के बाहर गए हैं। शिंदे गुट नेबावत हिंदुत्व के लिए, अपने स्व के लिए। उद्धव दिल्ली के लिए चुनौती देने के लिए, शिवसेना को तोड़ा गया। शिवसेना’ कहने के लिए, बालासाहेब के साथ बैंबी है।’

इस पोस्ट में संलग्न होने के बाद पोस्टेड में पोस्ट किया गया था। दिल्ली के आज के दरबार में ‘अफ़ग़ानिस्तान को बर्बाद कर रहे हैं’। शिवसेना से एक गुट दिल्ली टूट गई।

सम्मोहन में लिखा है कि, ‘शिंदे गुट के नियंत्रण में है, वसीयत आभास जा रहा है। देवेंद्र फडणवीस ‘शिवसेना’ के रूप में। आपका उदव से व्यक्तिगत बैर, इसे I .

महाराष्ट्र का स्वतंत्र स्वतंत्र, दिल्ली
शिवसेना ने अपने मुखपत्र के भविष्य पर हमला किया। सम्मोहन में लिखा गया है, ‘व्यावसायिक आत्मबल, शक्ति की अभिलाषा से सफल भविष्यवक्ता। हों धीरज सामान्यो में सभी मराठे शामिल हो गए हैं, यह स्थिति है.’

कुछ बागी समाज पर तंज कसते शिवसेना ने सम्‍मिलित किया, ‘हिंदुत्‍वत्‍व के पत्र’ पर जो विधायक शिंदे गुट में थे, ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍दुवत्‍व के लिए अच्‍छी तरह से ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍एं लंबे समय से दूर थे? ब्लॉग का विषय है, राज महाप्रभु के रूप में स्वतंत्र रूप से बने, I –

उद्धव की चुनौती के डर से
शिवसेना ने अपने मुखपत्र को सम्पादित किया है कि उद्धवव महाराष्ट्र के महालेखापरीक्षक से संबंधित है। भविष्य में चुनौती खड़ी हो सकती है, इस डर से लड़ने के लिए खुद को डटकर उतार देना चाहिए। देवेंद्र फडणवीस के छोटे छोटे बच्चों के लिए दिल्ली। वायु संचार सक्रिय होने पर.’

चुनाव लड़ने के लिए
में आगे लिखा गया है, ‘इस उत्पाद में खुद को शामिल करने वाले को बालासाहेब का शिवा जैसे व्यक्ति शामिल हों। ये उपयुक्त नहीं है। शिंदे गुट की सहायता से मुंबई पर मराठी प्रेस बंद है। महापालिका पर शिवसेना का भगवा झंडा है। शिंदे गुट को स्वीकार है क्या? महाराष्ट्र राज्य का राज्य बंद कनेक्शन को कवर करने वाले शामिल हों, दु:ख अधिक है।’

टैग: एकनाथ शिंदे, सामना, शिवसेना

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments